वज्रासन (Vajrasan/Thunderbolt Pose/Diamond Pose)

वज्रासन क्या है?
यह ध्यानात्मक आसन हैं। मन की चंचलता को दूर करता है। भोजन के बाद किया जानेवाला यह एक मात्र आसन हैं।

वज्रासन के लाभ
इसके करने से अपचन, अम्लपित्त, गैस, कब्ज की निवृत्ति होती है। भोजन के बाद 5 से लेकर 15 मिनट तक करने से भोजन का पाचक ठीक से हो जाता है। वैसे दैनिक योगाभ्यास मे 1-3 मिनट तक करना चाहिए। घुटनों की पीड़ा को दूर करता है। इसके करने से आप वीर्य विधि और ब्रह्मचर्य की सुरक्षा पाते है।

वज्रासन की विधि
दोनों घुटने सामने से मिले हों | पैर की एडियाँ बाहर की और पंजे अन्दर की और हों | बायें पैर के अंगूठे के आस पास मैं दायें पैर का अंगूठा | दोनों हाथ घुटनों के ऊपर |

Share this Article